Hindi Poem for Class 1 | कक्षा 1 के लिए हिंदी कविता

Through this poem, we give a message to the children that Hindi language is very important for them and they should understand and learn it. Apart from this, through this poem, we also teach children about the ideals that a good boy or girl should have. Hindi Poem for Class 1 this poem tells them about good behavior, manners, understanding and healthy state of mind both in their school and at home. In short, this poem enables children to move forward in their lives with a full cultural experience.

Hindi Poem for Class 1

Hindi Poem for Class 1

Today we have brought before you a very beautiful Hindi poem, which has been made for children. This poem teaches children about values, ethics and good manners. Hindi Poem for Class 1 this poem is a part of our culture and heritage which we should always cherish. so let’s start the poem

Hindi Poems for Class 1 for Kids

1.चिड़ियाँ हमें जगाती हैं,

चिड़ियाँ हमें जगाती हैं,
रोज सुबह उठ जाती हैं।

फिर वो दाना चुगनें जाती हैं,
समय समय पर घर आती हैं।

अपने बच्चों को दाना भी खिलाती हैं,
तिनका बीनकर घोसला बनाती है।

फिर शाम ढले नित्य एक समय से
सोने को वो जाती हैं।

2. देखो देखो कालू मदारी आया

देखो देखो कालू मदारी आया,
संग में अपनी बंदरिया लाया।

डम डम डम डम डमरू बजाया,
यह देख टप्पू चिंटू-पिंटू आया।

सुनीता पूजा बबीता आयी,
देखो देखो कालू मदारी आया।

फिर जोर-जोर से मदारी ने डमरू बजाया,
बंदरिया ने उछल कूद पर नाच दिखाया।

उल्टा पुल्टा नाच देख कर सब मुस्कुराए,
फिर सब ने जोर-जोर से ताली बजाई।

देखो देखो कालू मदारी आया,
संग में अपनी बंदरिया लाया।

3. सुबह उठ कर जल्दी सेHindi Poem for Class 1 With Moral

सुबह उठ कर जल्दी से
पापा को जगाते हैं

धूप में बैठ कर
दूध मलाई खाते हैं

जैसे मम्मी कहती है
वैसे करते जाते हैं

सबका कहना माने हम
अच्छे बाल कहलाते हैं

4. गोल गोल यह लाल टमाटर

गोल गोल यह लाल टमाटर
होते जिससे गाल टमाटर

खून बढ़ाता लाल टमाटर
फूर्ति लाल लाल टमाटर

स्वास्थ्या बनाता लाल टमाटर
मस्त बनाता लाल टमाटर

हम खाएँगे लाल टमाटर
बन जाएँगे लाल टमाटर.

5.चंदा मामाHindi Poem for Class 1 Students

चंदा मामा, आ जाना,
साथ मुझे कल ले जाना।

कल से मेरी छुट्टी है,
ना आये तो कुट्टी हैं।

चंदा मामा खाते लड्डु,
आसमान की थाली में।

लेकिन वे पीते हैं पानी,
आकर मेरी प्याली में।

चंदा देता हमें चाँदनी,
सूरज देता धूप।

मेरी अम्मा मुझे पिलातीं,
बना टमाटर सूप।

थपकी दे-दे कर जब अम्मा,
मुझे सुलाती रात में।

सो जाता चंदा मामा से,
करता-करता बात मैं।

6. मेरी प्यार माँ तू कितनी प्यारी है माँ

मेरी प्यार माँ तू कितनी प्यारी है माँ

मेरी प्यार माँ तू कितनी प्यारी है माँ
जग है कांटों की सेज तू फुलवारी है

तेरी वजह से मैं इस जग में आया
तूने मुझे जीना सिखाया

माँ तू मुझे अच्छी अच्छी बातें है सिखाती
करूं जो मैं शैतानी तो डांट भी लगाती

तेरी ममता के साये में बीता मेरा बचपन
आशीष दे माँ तेरी सेवा में हो मेरा यह जीवन अर्पण

7.माँHindi Poems for Class 1 on Mother

प्यारी जग से न्यारी माँ,
खुशियां देती सारी माँ।

चलना हमे सिखाती माँ,
मंजिल हमे दिखाती माँ।

सबसे मीठे बोल है माँ,
दुनिया में अनमोल है माँ।

खाना हमें खिलाती है माँ,
लोरी गाकर सुलाती है माँ।

प्यारी जग से न्यारी माँ।
खुशियाँ देती सारी माँ।

8.तू धरती पर ख़ुदा है माँ

तू धरती पर ख़ुदा है माँ,
पंछी को छाया देती पेड़ों की डाली है तू माँ.

सूरज से रोशन होते चेहरे की लाली है तू,
पौधों को जीवन देती है मिट्टी की क्यारी है तू.

सबसे अलग सबसे जुदा,
माँ सबसे न्यारी है तू.

तू रोशनी का खुदा है माँ,
बंजर धरा पर बारिश की बौछार है तू माँ.

जीवन के सूने उपवन में कलियों की बहार है तू,
ईश्वर का सबसे प्यारा और सुंदर अवतार है तू माँ.

तू फरिश्तों की दुआ है माँ,
तू धरती पर ख़ुदा है माँ.

Hindi Poem for Class 1

Hindi Poem for Class 1 competition

9. मछ्ली जल की रानी है

मछ्ली जल की रानी है

जीवन उसका पानी है
हाथ लगाओ तो डर जाएगी

बाहर निकालो तो मर जाएगी
पानी मे डालो तो तैर जाएगी…

10.आम की टोकरी

छह साल की छोकरी,
भरकर लाई टोकरी।

टोकरी में आम हैं,
नहीं बताती दाम हैं।

दिखा-दिखाकर टोकरी,
हमें बुलाती छोकरी।

हमको देती आम है,
नहीं बुलाती नाम है।

नाम नहीं अब पूछना
हमें आम है चूसना।

11. आलू कचालू बेटाHindi Poem for Class 1 With Pictures

आलू कचालू बेटा कहाँ गए थे,
बन्दर की झोपडी में सो रहे थे।

बन्दर ने लात मारी रो रहे थे,
मम्मी ने प्यार किया हंस रहे थे।

पापा ने पैसे दिए नाच रहे थे,
भैया ने लड्डू दिए खा रहे थे।

12.बंदर के पास था एक खिलौना

बंदर के पास था एक खिलौना
संभाल उसे वो रखता था

खेलने से पहले भाई हाथ धो लेना
सबसे यही वो कहता था

Hindi Poem Competition for Class 1

13.आम है फलों का राजा

आम है फलों का राजा
उसको खाते सब कोई ताजा

पापा जब भी बाजार जाते
ढेर सारे आम लाते

आम फल का राजा है
मैं पापा का राजा हूं

छोटा सा हूं , मोटा सा हूं
गोदी में सबके खेलता हूं।

Hindi Poem for Class 1

Also Read-

We hope you have liked this poem of ours. Hindi Poems for Class 1 We have written lovely poems for you on our website, if you like our poem then please do comment. Thank you for reading the complete poem.

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *